Sunday, February 5, 2017

बसंत पंचमी






सभी मित्रों को बसंत पंचमी के पावन अवसर पर ढेर सारी शुभ कामनाएँ माँ शारदा सब को सद्बुद्धि और विवेक दें।

या कुंदेंदु तुषारहार धवला, या शुभ्र वस्त्रावृता | या वीणावर दण्डमंडितकरा, या श्वेतपद्मासना ||
या ब्रह्माच्युतशंकरप्रभ्रृतिभिर्देवै: सदा वन्दिता | सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेष जाड्यापहा ||

शुक्लां ब्रह्मविचार सार परमां आद्यां जगद्व्यापिनीं वीणा पुस्तक धारिणीं अभयदां जाड्यान्धाकारापाहां|
हस्ते स्फाटिक मालीकां विदधतीं पद्मासने संस्थितां वन्दे तां परमेश्वरीं भगवतीं बुद्धि प्रदां शारदां||


दे ऐसा आशीष मुझे माँ आँखों का तारा बन जाऊं