Thursday, April 26, 2012

हैप्पी बर्थ डे टू “सत्यम “


हैप्पी बर्थ डे टू सत्यम 
---------------------------

मेरे प्यारे नन्हे मुन्नों 
मित्र हमारे दिल हो 
मात - पिता के बहुत दुलारे 
जग के तुम दीपक हो !
------------------------------

आओ अपने नन्हे कर से 
सुन्दर प्यारा जहाँ बनायें 
सूरज चंदा तारों से हम 
झिलमिल -झिलमिल इसे सजाएं !
------------------------------------
प्रेम की बहती अमृत धारा 
कमल गुलाब खिले चेहरे हों 


मंद मंद मुस्कान विखेरे 
हम नूर नैन के दिलों बसे हों !
----------------------------------
फूल खिले हों चिड़ियाँ गायें 

नाच मोर हर दिन सावन हो 

ख़ुशी रहे "तुलसी" घर आंगन 
ज्ञान का दीपक ज्योति जगी हो 
---------------------------------------
होली दीवाली से हर दिन 
झूमें हम - मन - मिला रहे 
गुडिया गुड्डे और घरौंदे 

अपनी दुनिया सजी रहे !
  
देश के वीर सपूत बनें हम 
भारत - माँ - के लाल बनें 
शावक से जब सिंह बनें हम 
गरजें अरि के काल बनें !

-----------------------------------
सभी बड़े- छोटे- सब मिल के 
ह्रदय लगा  - दे - दें आशीष 
सदा सहेजे --  मै रखूँगा 
नमन करूँ - तुम गुरु हो- ईश !
----------------------------
कल है मेरा जन्म-दिवस- 'प्रिय'
केक काटने आ जाना 

स्नेह लुटा बबलू पप्पू बन 
लड्डू -टाफी - खा जाना 

--------------------------------

गुब्बारे- संग -फूल खिलेंगे
खुश्बू  होगी- कविता होगी 
भ्रमर रहेंगे मधुर गीत में 
काव्य गोष्ठी अद्भुत होगी 
-----------------------------------
आपका स्नेहाकांक्षी 'सत्यम"
द्वारा भ्रमर-५- २६.४.२०१२ 
प्रतापगढ़ उ.प्र. 





दे ऐसा आशीष मुझे माँ आँखों का तारा बन जाऊं

6 comments:

Surendra shukla" Bhramar"5 said...

प्रिय सत्यम बाबू मेरा आप की माता श्री और सभी प्रिय जन का ढेर सारा प्यार आशीष तुम्हे मिले --हार्दिक स्नेह
भ्रमर ५

expression said...

बार बार दिन ये आये..........
बार बार दिल ये गाये.............
तुम जियो हज़ारों साल ....................

चि.सत्यम को अनंत शुभकामनाएँ और स्नेहाशीष

अनु

expression said...

बार बार दिन ये आये..........
बार बार दिल ये गाये.............
तुम जियो हज़ारों साल ....................

चि.सत्यम को अनंत शुभकामनाएँ और स्नेहाशीष

अनु

dheerendra said...

तुम जियो हज़ारों साल ..
सत्यम को अनंत शुभकामनाएँ बधाई और स्नेहाशीष

MY RECENT POST...काव्यान्जलि ...: गजल.....

Surendra shukla" Bhramar"5 said...

अनु जी इस स्नेहिल आशीष के लिए आप का हार्दिक आभार
भ्रमर ५

Surendra shukla" Bhramar"5 said...

प्रिय धीरेन्द्र जी सत्यम को आप का स्नेह मिला आशीष मिला मन बाग़ बाग़ हो गया आप का हार्दिक आभार
भ्रमर ५