Thursday, October 6, 2011

कुल्लू दशहरा हिमाचल का


आइये प्रभु श्री राम के दर्शन करें और कुल्लू दशहरा हिमाचल का आनंद लें जय श्री राम .....

इसी रथ से प्रभु श्री राम एक मैदान से कुल्लू के दशहरा स्थल में बने अपने मंदिर में चलते हैं राजा महेश्वर जी और अन्य पुजारी जज आदि पूजा अर्चना कर के इन्हें रथ में बिठाते हैं फिर गाँव गाँव से आये पालकी में सवार ३०० देवता गाजे बाजे के साथ इनसे मिल चल पड़ते हैं और मनमोहक नजारा भीड़ धूम ...अब तो १० दिन मेला ...जय प्रभु श्री राम ....





दे ऐसा आशीष मुझे माँ आँखों का तारा बन जाऊं

6 comments:

Dr.Ashutosh Mishra "Ashu" said...

kullu ki darshan karane ke liye dhanyawad..mere blog per bhi aapka swagat hai

Surendra shukla" Bhramar"5 said...

प्रिय डॉ आशुतोष मिश्र जी विजय दशमी की हार्दिक शुभ कामनाएं कैसा लगा मेला कहाँ रहे कल ? सौभाग्य से कुल्लू में प्रभु श्री राम के दर्शन हुए और मन में आया आप सब के बीच भी इस शुभ कार्य को बांटा जाए .--
इसमें शरीक होने और आप की शुभ कामनाओं के लिए
आभार आप का
भ्रमर ५

S.N SHUKLA said...

Bahut khoobsoorat post.aabhar

Surendra shukla" Bhramar"5 said...

प्रिय श्री शुक्ल जी अभिवादन प्रभु श्री राम के दर्शन आप ने किये लिखना और वन्जारों सा हमारा घूमना सार्थक रहा प्रोत्साहन और स्नेह बनाये रखें
भ्रमर ५

मलकीत सिंह जीत said...

बड़ी ही सुन्दर शब्द वाटिकाए है भाव पूर्ण प्रस्तुति भ्रमर जी यहाँ भी आपका पीछा नहीं छोड़ेंगे हम

Surendra shukla" Bhramar"5 said...

प्रिय भाई मलकीत जी हार्दिक अभिवादन और अभिनन्दन भ्रमर का दर्द और दर्पण में ..बड़ी ख़ुशी हुयी आप को देख ...
आभार आप के स्नेह के लिए यहाँ तक आप पहुंचे वैसे तो हम जागरण जंक्शन में साथ साथ हैं ही लेकिन इस घर में आने से और हर्ष हुआ इसी तरह के और भी पांच घर हैं
आभार प्रोत्साहन हेतु
भ्रमर ५